Type Here to Get Search Results !

Apple company का मालिक कोन है

2
Apple company का मालिक कोन है ? 

Steve Jobs बायोग्राफी दोस्तों, फेसबुक इंस्टाग्राम और Whatsapp जैसी बड़ी सोशल मीडिया कंपनियों को चलाने वाले मार्ग जबर्बक के  गुरुवर के गुरु का नाम है। क्या आप जानते हैं दोस्तों हम आपको बता दें कि दुनिया के सबसे अमीर लोगों में गिने जाने वाले मार्ग, जकर्वक के  गुरु और कोई नहीं बल्कि Steve Jobs। 

Steve Jobs कौन है? 

 यह तो हमें आपको बताने की जरूरत ही नहीं है क्योंकि IPhone के दीवानों को यह बात बहुत अच्छे से पता होगी। यह  जिस IPhone को लेकर दुनिया भर में टशन मारते हैं, उसे लोगों के सामने लाने  वाला कोई और नहीं बल्कि Steve Jobs है। ऐसे में दोस्तों ऐसे शख्स की Zindagi कैसे फर्श से अर्श तक पहुंची है। उसके बारे में आज मैं यानी आपका दोस्त प्रदीप वर्मा  आपको बताने वाला। 

दुनिया का सबसे अच्छा फोन कोन हैं ? 

दोस्तोंMobile फोन की दुनिया में I Phone एक ऐसा बैंड है जिसका जब भी कोई नया फोन लांच होता है तो उसे लेने वालों की भीड़ उमड़ पड़ती है। दोस्तों कई लोग IPhone शौक के लिए रखते हैं तो कुछ अपने काम के लिए रखते हैं लेकिन एक चीज जो सब में सिमिलर होती है वह है IPhone पर उनका विश्वास। 

दोस्तों यह वही विश्वास है जिसकी , Steve Jobs ने रखी थी और आज आप एप्पल के प्रोडक्ट में जितने भी बेहतरीन डिजाइन और शानदार इंजीनियरिंग पाते हैं, वह सबSteve Jobकी ही मेहनत का नतीजा है क्योंकि IPhone आईपैड, मैकबुक और आईमैक के बारे में तो हम सभी को पता है और इन्हें हमारे सामने पेश करने वाले Steve Jobs की Zindagi में कितनी परेशानी होती है उसके बारे में Shayad ही किसी को पता हो। 

Steve Jobs जन्म कहा हुआ था ? 

24 फरवरी 1955 मेंSteve Jobका जन्म California के सैन फ्रांसिस्को में हुआ था।

Steve Jobs की पुरी कहानि

 दोस्तों Steve की मां बिना शादी के मां बनी थी। इसीलिए उनके जन्म के बाद इन्हें किसी को गोद देने का फैसला किया गया। दोस्तों Steve को पोल और क्लारा ने अडॉप्ट किया।Steve कि मां चाहती थी कि उनके बेटे को गोद लेने वाले लोग पढ़े लिखे हो।

जबकि क्लारा  एक अकाउंटेंट और पुलके मैकेनिक थे और दोनों ने ही अपना कॉलेज पूरा नहीं किया था। पर दोनों ने Steve की मां से वादा किया कि वह कभी भी Steve को किसी भी चीज की कमी नहीं होने देंगे। दोस्तों  Steve अपने नए परिवार के साथ 1961 में California के माउंटेन व्यू रहने आ गए और यहीं से उनकी पढ़ाई शुरू हो गई थी।Steve के पिता ने घर चलाने के लिए गेराज  खोला और यही से Steve की इलेक्ट्रॉनिक का सफर शुरू हुआ।

Steve जॉब सुरु से ही काफी ज्यादा inteligente  थे और लेकिन यह सरारत भी काफी ज्यादा जरते थे और  उनके तेज दिमाग की वजह से इन स्कूल टीचर इन और बड़ी क्लास में डालना चाहते थे लेकिन उनके पैरेंट्स चाहते थे कि उनकी सारी चीजें नेचुरल तरीके से हो इसलिए  इन्हें सिकबन से नार्मल बच्चों की पढ़ाई पढ़ाई करनी पड़ी

मात्र 13 साल की उम्र में स्टील की दोस्ती Steve वोजनियाक से हुई जिनका दिमाग भी Steve Jobs की तरह तेज था और इन्हें इलेक्ट्रॉनिक से बहुत प्यार था। हाई स्कूल की पढ़ाई के बाद Steve Jobs ने कॉलेज में दाखिला लिया, लेकिन रीड कॉलेज की फीस बहुत ज्यादा थी और स्टील के माता-पिता भी मुश्किल से खर्चा चला पा रहे थे। कुछ ही समय में स्टील को ऐसा लगने लगा कि कॉलेज की पढ़ाई महंगी भी है। ओर उनका  का पढ़ाई में मन भी नहीं लगता

 इसलिए उन्होंने 6 महीने में ही कॉलेज छोड़ दिया। दोस्तो कॉलेज छोड़ने के बाद Steve ने Calligraphy के क्लासेस Join की जिसके कारण आज हम अपने Computerमें इतने सारे फोंट यूज कर पाते हैं। जभी Calligraphy की पढ़ाई कर रहे थे तो इनके पास उस वक्त ज्यादा Paise नहीं होते थे। ऐसे में यह अपने दोस्त के घर पर जमीन पर सोया करते थे और थोड़ा बहुत खर्चा चलाने के लिए कोका कोला की Bottle तक बेचनी शुरू कर दी थी

 और रविवार के दिन तो यह 7 मील पैदल चलकर राधा कृष्ण मंदिर जाते थे कि मुस्तका खाना खा सके। दोस्तों सी जॉब्स Steve वोजनियाक की दोस्ती वापस अच्छी हो गई जिसकी वजह से दोनों ने मिलकर एक Computerबनाने का फैसला किया और वह Computerउन्होंने Steve Jobs के गैराज में ही बनाया, जिसको एप्पल नाम दिया  दोस्तों इस Computerको बनाने के लिए दोनों ने कुछ सामान बेचकर Paise इकट्ठे किए। इनके द्वारा बनाया गया एप्पल Computerछोटा सस्ता और ज्यादा फंक्शनल था।

इन दोनों द्वारा बनाए गए Computerको बहुत ज्यादा पसंद किया गया जिसकी वजह से इन दोनों ने कई लाख डॉलर्स भी कमाए और मात्र 10 साल में इनकी कंपनी जानी मानी कंपनी बन गई। पर जब कंपनी का थोड़ा घाटा हुआ तो इसके लिए Steve Jobs को जिम्मेदार मान कर 17 सितंबर 1985 में इन्हें कंपनी से निकाल दिया गया। कंपनी से निकाले जाने के बाद Steve Jobs काफी निराश हो गए, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी। इन्होंने अपनी खुद की कंपनी की शुरुआत की जिसका नाम इन्होंने नेक्स्ट रखा ।

 दोस्तों यह  कंपनी हाउस में प्रोडक्ट थी। पर इतने ज्यादा नाम नहीं कमाया, लेकिन Steve Jobs  वह Steve Jobs थे, जिन्हें कामयाब होने में भला कौन रोक सकता था, इसलिए उन्होंने अपनी कंपनी को सॉफ्टवेयर कंपनी में बदल दिया। इसके बाद तो मानो उसकी पूरी Zindagi बदल गई। इन्होंने इतने Paise कमाए कि बाद में 10 मिलियन डॉलर देकर एक ग्राफिक कंपनी खरीद ली,

जिसका नाम द पिक्चर रखा जो आज पूरी दुनिया में फेमस है। इसके बाद दोस्तों Steve Jobs ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा। लगातार तारीकी  की सीढ़ियां चढ़ते रहे पर वहीं दूसरी तरफ एप्पल कंपनी घाटे में चल रही थी। जिस वजह से  apple ने Steve Jobs की नेक्स्ट कंपनी को 477 मिलियन डॉलर में खरीद लिया। और फिर उन्हें जिस कंपनी से निकाला गया था उसी एप्पल कंपनी ने Steve Jobs सीईओ बन गए और इनके इस पद पर बैठने के बाद एप्पल कंपनी ने भी तरक्की की सीढ़ियां चढ़ना शुरू कर दिया।

जहां सबसे पहले Steve Jobs ने एप्पल कंपनी में मौजूद जितने भी ढाई सौ प्रोडक्ट है, उन्हें हटाकर 10 प्रोडक्ट रखें और ने सबसे बेस्ट क्वालिटी का बनाने का फैसला किया और इनके इसी फैसले की वजह से आज एप्पल कंपनी का कोई भी प्रोडक्ट फ्लॉप साबित नहीं होता। 

 दोस्तों अगर देखा जाए तो Steve Jobs की जिंदगी से हर एक चीज सीखने को मिलती है कि कैसे दुनिया आपको चाहे जितना भी पीछे क्यों ना धकेलने की कोशिश करें। अगर आप में कुछ करने की लगन है तो आप किसी को मुश्किल से लड़ सकते हैं। बाकी आपका इस पर क्या कहना है। हमें कमेंट करके जरूर बताइएगा। 


Tags

एक टिप्पणी भेजें

2 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.